रांची में ग्रामीणों ने बिहार के दो पुलिसकर्मियों पीटा ! जानें क्या है पूरा मामला

Villagers beat up two policemen from Bihar in Ranchi!

रांची : झारखंड की राजधानी रांची में बिहार से आये दो पुलिसकर्मियों को ग्रामीणों ने पीट दिया. घटना कांके थाना क्षेत्र के मिल्लत कॉलोनी की है. दोनों पुलिसकर्मी दहेज मामले में एक वारंटी को गिरफ्तार करने के लिए यहां आये थे. सादे लिबास में मिल्लत कॉलोनी पहुंचे, तो दोनों पुलिसकर्मियों को लोगों ने अपहरणकर्ता समझकर उनकी खूब पिटाई कर दी. कांके थाना की पुलिस के हस्तक्षेप से उन्हें सुरक्षित निकाला गया.

दो वर्ष पहले सीवान की लड़की से हुआ था रौनक का निकाह..

मिली जानकारी के अनुसार, कांके निवासी गुलाम अशरफ उर्फ रौनक का 2 वर्ष पहले बिहार के सीवान जिला में निकाह हुआ था. निकाह के एक सप्ताह के भीतर उसको पता चल गया कि उसकी पत्नी मानसिक रोगी है. लंबे समय तक उसका इलाज चल रहा है. इसके बाद उसने अपने ससुराल वालों को बुलाकर अपनी पत्नी को उनके हवाले कर दिया.

मिल्लत कॉलोनी में सुबह 8:30 बजे पहुंची बिहार पुलिस

लड़की के परिवार वालों ने रौनक और उसके परिजनों के खिलाफ दहेज का केस दर्ज करवा दिया. उसी मामले में गुलाम अशरफ के खिलाफ वारंट जारी हुआ था. उसकी गिरफ्तारी के लिए सीवान जिला की पुलिस कांके पहुंची थी. सुबह 8:30 बजे दो पुलिसकर्मी जब मिल्लत कॉलोनी के पास पहुंची, उस समय रौनक सैलून जा रहा था. मिल्लत कॉलोनी मोड़ के पास हरियाणा के नंबर की एक हरियाणा गाड़ी खड़ी थी.

हरियाणा के नंबर वाली गाड़ी में सवार थे तीन लोग

हरियाणा के नंबर वाली गाड़ी में तीन लोग सवार थे. उनमें से दो लोग गुलाम अशरफ उर्फ रौनक से पूछताछ करने लगे. इसी बीच लड़की के भाई और रौनक के साले इंतखाब आलम ने पुलिसकर्मियों से कहा कि रौनक को गाड़ी में लादो. इसी बीच रौनक वहां से भाग गया. शोर मचाने लगा. बचाओ. बचाओ. ये लोग मुझे किडनैप करने आये हैं. रौशन की आवाज सुनकर लोगों ने पुलिसकर्मियों को घेर लिया और उनकी जम कर पिटाई कर दी.

ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों के बांध दिये हाथ-पैर

वहीं लोगों ने दोनों पुलिसकर्मियों के हाथ-पैर भी बांध दिये. स्थानीय लोगों ने कांके पुलिस को इसकी सूचना दी. 15-20 मिनट बाद सीवान की महिला थाना की दारोगा आराधना कुमारी वहां पहुंचीं. उन्होंने स्थिति को संभाला. उन्होंने लोगों को बताया कि ये अपहरणकर्ता नहीं हैं. बिहार पुलिस के लोग हैं. रौनक पर सीमाव में दहेज मामले में केस दर्ज है. उसी मामले में उसकी गिरफ्तारी के लिए ये लोग यहां आये हैं. तब कांके पुलिस के हस्तक्षेप से बिहार के दोनों पुलिसकर्मी मुक्त हुए.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.